आज की इस पोस्ट में राजस्थान के सामान्य ज्ञान के टॉपिक "राजस्थान में वन सम्पदा" पर आधारित जितने भी प्रश्न पिछले एग्जामस में पूछे गए, उन सभी को कलेक्ट कर एक पोस्ट में पेश किये गए है। यानि की इस पोस्ट में आप सभी के लिए "Rajasthan Ki Van Sampada/Previous Year Rajasthan GK" पर आधारित प्रश्न है। एक पंक्ति वाले राजस्थान वन सम्पदा पर जितने भी प्रश्न बन सकते थे लगभग उन सभी को शामिल करने की कोशिश की है। आप सभी इसे पूरा जरूर पढ़ें:-
Rajasthan Ki Van Sampada, rajasthan me van sampda k question, rajasthan van sampada
राजस्थान की वन सम्पदा

राजस्थान में वन सम्पदा Previous Year Rajasthan GK in Hindi

  • कत्था (अकेसिया-कटेचु) खैर के वृक्ष से प्राप्त होता है इसके मुख्य उत्पादक जिले - उदयपुर, झालावाड़, कोटा, चित्तौड़गढ़, बूंदी, भरतपुर तथा जयपुर है। 
  • राजस्थान का कुल वन क्षेत्र : 32488 वर्ग किलोमीटर। 
  • शुष्क सागवान के वन राजस्थान के किस वन मंडल के अंतर्गत सर्वाधिक क्षेत्र पर विस्तृत है - बांसवाड़ा। 
  • उष्णकटिबंधीय सदाहरित, उष्णकटिबंधीय कंटीली, उपोषण कटिबंधीय सदाहरित, शुष्क एवं अर्ध शुष्क पर्णपाती वनस्पति में से किस प्रकार की वनस्पति राजस्थान में नहीं पाई जाती है - उष्णकटिबंधीय सदाहरित। 
  • 18 फरवरी 2010 को नई वन एवं पर्यावरण नीति लागू करने वाला राजस्थान राज्य देश का प्रथम राज्य है। 
  • राजस्थान में प्रथम जैविक उद्यान कहां स्थापित किया गया है - नाहरगढ़ जैविक उद्यान, जयपुर में। 
  • सन 2011-12 में राजस्थान के किस जिले में सर्वाधिक वन क्षेत्र था - करौली जिले में। 
  • राजस्थान में जैविक उद्यान कहां-कहां स्थापित किए गए हैं - नाहरगढ़, सज्जनगढ़, माचिया। 
  • रोहिड़ा का वैज्ञानिक नाम क्या है : टीकोमेला अंडूलेटा। 
  • रोहिड़ा के फूल को जोधपुर में मारवाड़ टीक नाम से भी जाना जाता है। 
  • रोहिड़ा का वानस्पतिक नाम टीनोस्पोरा कोर्डीफोलिया। 
  • खस घास सर्वाधिक भरतपुर जिले में उगती है। 
  • राजस्थान राज्य का राज्य पुष्प कौनसा है - रोहिडा। 
  • कौनसे वृक्ष को जंगल की आग के द्वारा संबोधित किया जाता है - ढाक (प्लास) 
  • धामड़, करड़ एवं अंजन किस्में है - राजस्थान में घास की किस्में है। 
  • रखत, कांकड, डांग और रुद ये सभी किससे संबंधित है - वनों के संरक्षण से संबंधित है। 
  • राजस्थान में कौनसे दो जिले सर्वाधिक वन क्षेत्र रखते हैं - सिरोही व उदयपुर जिले। 
  • राजस्थान में वन मंडलों की कुल संख्या कितनी है - 13 
  • राजस्थान के किन जिलों में खस नाम की सुगंधित घास प्रचुर मात्रा में उगती है - भरतपुर, टोंक तथा सवाई माधोपुर जिलों में। 
  • खेजड़ी का वैज्ञानिक नाम क्या है - प्रोसोपिस सिनेररिया। 
  • राजस्थान में उगने वाले अर्जुन वृक्ष का मुख्य महत्व क्या है - यह वृक्ष परोक्ष रूप से टसर रेशम के उत्पादन से जुड़ा हुआ है। 
  • राजस्थान का राज्य वृक्ष खेजड़ी थार का कल्पवृक्ष कहलाता है। यह राज्य में वन क्षेत्र के कितने भाग में पाए जाते हैं - दो तिहाई भाग में। 
  • राजस्थान में कौनसी मुख्य वन उपज नहीं मानी जाती है -बांस। 
  • भारत में सागवान के उत्पादन में निरंतर कमी हो रही है,राजस्थान के वे कौन से जिले हैं, जो सागवान की वृद्धि में सहायक सिद्ध हो सकते हैं - बांसवाड़ा तथा उदयपुर जिले। 
  • प्राचीन एवं विशिष्ट प्रजातियों के वृक्षों की पहचान सुरक्षित करने के उद्देश्य से किस पुरस्कार की स्थापना की गई है - महावृक्ष पुरस्कार की। 
  • राजस्थान का सागवान किसे कहा जाता है - रोहिडा को। 
  • रोहिड़ा को राजस्थान का राजकीय पुष्प कब घोषित किया गया - 1983 ईस्वी को। 
  • राजस्थान में वनों की कमी का मुख्य कारण क्या है - जलवायु परिवर्तन (सूखे की बारंबारता/अनियमित वर्षा) 
  • राजस्थान के पश्चिम भाग में वन किस रूप में पाए जाते हैं - वन, कांटेदार पेड़ एवं झाड़ियां के रूप में। 
  • खेजड़ी वृक्ष की पूजा किस पर्व पर की जाती है - दशहरा पर्व पर। 
  • सेवण घास किस जिले में विस्तृत रूप से पाई जाती है - जैसलमेर जिले में। 
  • राज्य में कुल कितने राष्ट्रीय उद्यान है - तीन राष्ट्रीय उद्यान। 
  • अमृता देवी पुरस्कार किससे संबंधित है - वन संरक्षण से। 
  • तेंदू (टिमरू) के पत्ते मुख्यतः किस जिले में प्राप्त किए जाते हैं - प्रतापगढ़ जिले में। 
  • राजस्थान में घास के मैदान या चारागाहों को अन्य किस नाम से जाना जाता है - बीड़। 
  • जैसलमेर के उत्तर-पश्चिम में भारत-पाक सीमा के सहारे 60 किलोमीटर चौड़ी पट्टी "लाठी सीरीज क्षेत्र" में मामूली वर्षा से उगने वाली घास जो अत्यंत पौष्टिक घास होती है उसका क्या नाम है - सेवण घास। 
  • स्मृति वन कहां विकसित किए जा रहे हैं - झालाना, जयपुर में। 
  • शुष्क वन अनुसंधान संस्थान (AFRI) कहां स्थित है - जोधपुर में। 
  • किस वृक्ष के पत्तों से बीड़ी बनाई जाती है - तेंदू के पत्तों से। 
  • रुख भायला का क्या अर्थ है - वृक्ष मित्र। 
  • सेवन क्या है - एक घास का नाम है। 
  • राजस्थान में शुष्क सागवान वन कहां पाए जाते हैं - डूंगरपुर एवं बांसवाडा में। 
  • महुआ के पेड़ किन जिलों में पाए जाते हैं - उदयपुर तथा चित्तौड़गढ़ जिलों में। 
  • आदिवासियों का कल्पवृक्ष किस पेड़ को कहा जाता है - महुआ के पेड़ को। 
  • रिमोट सेंसिंग एप्लीकेशन सेंटर की स्थापना राज्य में कहां की गई है - जोधपुर में। 
  • राजस्थान में 50% से अधिक वन किस क्षेत्र के अंतर्गत आते हैं - सुरक्षित वन क्षेत्र के अंतर्गत। 
  • 31 मार्च 2011 की स्थिति के अनुसार राजस्थान में सर्वाधिक वन क्षेत्र किन जिलों में पाया जाता है - उदयपुर एवं बारां जिलों में। 
  • राजस्थान के इतिहास में "पट्टा रेख" से क्या अभिप्राय है - आंकलित राजस्व। 
  • राजस्थान में नई वन नीति की घोषणा कब की गई : 18 फरवरी 2010 को। 
  • राजस्थान का कौनसा हिस्सा बड़े पैमाने पर वन क्षेत्र से रहित है - पश्चिमी भाग। 
  • राजस्थान में प्रति हेक्टर सर्वाधिक जैव विविधता वाला देव वन किस जिले में है - कोटा जिले में। 
  • राजस्थान का वह जिला जहां उष्णकटिबंधीय शुष्क पर्णपाती वन पाए जाते हैं, वह है - सिरोही जिला। 
  • थार का कल्पवृक्ष किस वृक्ष को कहा जाता है - खेजड़ी को। 
  • वन स्थिति रिपोर्ट 2003 के अनुसार राजस्थान का सर्वाधिक वनाच्छादित जिला कौनसा है - उदयपुर जिला (जिसमें राज्य के कुल वन क्षेत्र का 12.66% प्रतिशत वन पाया जाता है। 
  • राजस्थान में बार-बार होने वाले सुख एवं अकाल का मुख्य कारण क्या है - अनियमित वर्षा होना। 
 यह भी पढ़ें : - 
Tags : rajasthan geography, rajasthan me van sansadhan k important question, rajasthan, rajasthan me van, rajasthan gk, rajasthan me jangal, Rajasthan Ki Van Sampada, rajasthan me van sampda k question, rajasthan van sampada, rajasthan ki van smpda, rajasthan me van sansadhan, rajasthan ki van sampda gk quiz, rajasthan police, forest mandal in rajasthan, rajasthan van report 2018,  rajasthan me vano ke prakar, rajasthan van report 2017, salar tree in rajasthan, van mandal in rajasthan, forest in rajasthan, rajasthan me vanaspati, rajasthan me vn shanshadhan, rajasthan me vn.


हमसे जुड़े

Educational Facebook Group

Join

PDF/Educational Telegram Group

Join

Educational Facebook Page

Join