राजस्थान जिला दर्शन : 'झुंझुनू जिला दर्शन'

'शेखावटी का सिरमौर जिला' झुंझुनू जिले में फिरोज खान तुगलक के बाद कायम खां के पुत्र मुहम्मद खान ने राज किया था। इनके बाद वहां पर शेखावत राजपूतों ने आधिपत्य कर लिया। झुंझुनू जिला आज राजस्थान में सांप्रदायिक सद्भाव की दृष्टि से अपनी विशिष्ट पहचान रखता है। झुंझुनू जिले को बचाए जाने के बारे में अलग-अलग इतिहासवेताओं  के अलग-अलग मत हैं। एक मत के अनुसार झुंझुनू जिले को 1451-88 के बीच में जुंझा नामक जाट ने बसाया था। लेकिन डॉक्टर उदयवीर शर्मा के अनुसार इस तथ्य के लिए कोई प्रमाण नहीं है। 
Jhunjhunu District GK in Hindi, Jhunjhunu GK in Hindi, Jhunjhunu Jila Darshan
Jhunjhunu Jila Darshan

झुंझुनू जिले के उपनाम/प्राचीन नाम

  • तांबा नगरी (खेतड़ी) 
  • तांबा जिला 
  • शेखावटी का सिरमौर जिला

झुंझुनू जिले का सामान्य परिचय 

  • झुंझुनू का क्षेत्रफल : 5928 वर्ग किलोमीटर
  • झुंझुनू जिले में तहसीलों की संख्या : 6
  • झुंझुनू जिले में उपखंडों की संख्या : 5
  • झुंझुनू जिले में उपतहसीलों की संख्या : 2

झुंझुनू जिले की मानचित्र में स्थिति एवं विस्तार

  • अक्षांशीय स्थिति : 27 डिग्री 38 मिनट उत्तरी अक्षांश 28 डिग्री 36 मिनट उत्तरी अक्षांश  तक। 
  • देशांतरीय स्थिति : 75 डिग्री 2 मिनट पूर्वी देशांतर से 76 डिग्री 6 मिनट पूर्वी देशांतर तक। 

झुंझुनू जिले के विधानसभा क्षेत्र

झुंझुनू जिले में कुल 7 विधानसभा क्षेत्र हैं, जिनके नाम निम्न प्रकार हैं :-
  • पिलानी 
  • झुंझुनू 
  • सूरजगढ़ 
  • नवलगढ़ 
  • मंडावा 
  • उदयपुरवाटी 
  • खेतड़ी

2011 की जनगणना के अनुसार झुंझुनू जिले की जनसंख्या / घनत्व / लिंगानुपात / साक्षरता के आंकड़े 

  • झुंझुनू की कुल जनसंख्या : 2137045
  • झुंझुनू का लिंगानुपात : 950 
  • झुंझुनू में जनसंख्या घनत्व : 361 
  • झुंझुनू की साक्षरता दर : 74.1 प्रतिशत। 
  • झुंझुनू में पुरुष साक्षरता दर : 86.9 प्रतिशत 
  • झुंझुनू में महिला साक्षरता दर : 61%

झुंझुनू जिले के प्रमुख मेले और त्यौहार

  • रायमाता का मेला - यह मिला गांगियासर (झुंझुनू) में विजयदशमी के अवसर पर भरता है। 
  • लोहार्गल मेला - यह मेला लोहार्गल (झुंझुनू) में भाद्रपद माह में गोगानवमी से अमावस्या तक तथा चित्र माह में सोमवती अमावस्या को भरता है। 
  • नरहड़ पीरजी मेला - यह मेला नरहड़ (झुंझुनू) में कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर भरता है। 
  • रानी सती मेला - यह मेला झुंझुनू में भाद्रपद अमावस्या को आयोजित होता है। 
  • मनसा देवी मेला - यह मेला भी झुंझुनू में चेत्र सुदी 8 एवं आसोज सुदी 8 को भरता है। 
यह भी पढ़ें :-

झुंझुनू के प्रमुख मंदिर | झुंझुनू के शीर्ष मंदिर

✍ रानी सती का मंदिर ➡️
रानी सती अग्रवाल जाति की थी। जिनका वास्तविक नाम नारायणी था। इनका प्रसिद्ध मंदिर झुंझुनू में स्थित है। यह मंदिर विश्व का सबसे बड़ा सती मंदिर है। रानी सती का उपनाम - चावों की देवी, शक्तिपीठ, दादीजी आदि। रानी सती अग्रवालों की कुलदेवी है। इनके मंदिर में भाद्रपद अमावस्या को प्रसिद्ध मेला भरता है। 

✍ खेतड़ी महल, झुंझुनू ➡️
इस महल का निर्माण खेतड़ी के महाराजा भोपाल सिंह द्वारा अपने ग्रीष्मकालीन विश्राम हेतु अनेक खिड़कियों एवं झरोखों से सुसज्जित कर बहुमंजिला इमारत के रूप में करवाया था। खेतड़ी महल में जयपुर के हवामहल एवं लखनऊ जैसे भूल-भुलैया की झलक देखने को मिलती है। 

✍ लोहार्गल, झुंझुनू ➡️
यह तीर्थ स्थल मालकेतु पर्वत की शंखाकार घाटी में स्थित है। इस तीर्थ स्थल की 24 कौसी परिक्रमा प्रसिद्ध है, जिसे मालखेत जी की परिक्रमा भी कहा जाता है। यह गोगा नवमी से शुरू होकर भाद्रपद अमावस्या को समाप्त होती है। यहां पर सूर्य कुंड तथा बरखंडी शिखर प्रमुख दर्शनीय स्थल है। 

✍ नरहड़ शरीफ की दरगाह ➡️
झुंझुनू जिले की चिड़ावा तहसील के नरहड़ कस्बे में बाबा शक्कर बार पीर की दरगाह स्थित है। नरहड़ के पीर को शक्कर बार के नाम से भी जाना जाता है। इनका जन्म नरहड़ गांव, चिड़ावा (झुंझुनू) में हुआ था। बाबा शक्कर बार पीर को 'बांगड़ का धनी' भी कहा जाता है। कृष्ण जन्माष्टमी के अवसर पर इस दरगाह में मेला भरता है। इस मेले में विभिन्न संप्रदायों के लोग जातिगत भेदभाव को भूलकर अधिकाधिक संख्या में भाग लेते हैं। इसीलिए झुंझुनू जिला आज प्रदेश में सांप्रदायिक सद्भाव की दृष्टि से अपनी विशेष पहचान रखता है। इस दरगाह में तीन दरवाजे - बुलंद, बसंती तथा बगली दरवाजा हैं। 

✍ सकराय माता का मंदिर (उदयपुरवाटी, झुंझुनू)➡️
सकराई माता खण्डेलवालों की कुलदेवी है। सकराई माता ने अकाल के समय अकाल पीड़ितों के लिए फल, सब्जियां, कंदमूल उगाये थे। जिसके कारण यह शाकंभरी कहलाई। इस माता को सबसे पहले इंटरनेट पर जारी किया था। नवरात्रों के अवसर पर यहां माता का मेला लगता है। सकराई माता का पुजारी नाथ संप्रदाय का व्यक्ति होता है। 

✍ रघुनाथ चुंडावत जी का मंदिर ➡️
यह मंदिर खेतड़ी (झुंझुनू) में स्थित है। इस मंदिर का निर्माण बख्तावर की पत्नी चुंडावत ने करवाया था। यह मंदिर विश्व का एकमात्र ऐसा मंदिर है, जिसमें राम एवं लक्ष्मण की दाढ़ी-मूछ वाली प्रतिमा स्थापित है। 

झुंझुनू जिले के दर्शनीय स्थल/पर्यटन स्थल


✍ खेतड़ी, झुंझुनू ➡️
'तांबा नगरी' के नाम से प्रसिद्ध खेतड़ी नगर से श्री स्वामी विवेकानंद का गहरा रिश्ता था। शिकागो धर्म सम्मेलन में भाग लेने के लिए जाने से पहले ही स्वामी विवेकानंद खेतड़ी के शासक अजीत सिंह के पास आए थे। स्वामी विवेकानंद को विवेकानंद नाम एवं पगड़ी खेतड़ी की देन है। यहां पर रामकृष्ण मिशन का मठ, भटियानी का मंदिर, पन्नालाल शाह का तालाब , नागौर का किला, अजीत सागर आदि दर्शनीय स्थल है। मोतीलाल नेहरू की प्रारंभिक शिक्षा भी यहीं से हुई थी। 

✍ नवलगढ़, झुंझुनू ➡️
यहां पर आठ हवेली कांपलेक्स, चोखानी परिवार की हवेली, पौद्दारों की हवेली तथा रूप निवास महल आदि प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल है। 

✍ पिलानी, झुंझुनू ➡️
पिलानी (झुंझुनू) में केंद्रीय इलेक्ट्रोनिकी अभियांत्रिकी अनुसंधान संस्थान (CEERI - Central Electronics Engineering Research Institute) तथा बिरला इंस्टिट्यूट ऑफ़ टेक्नोलॉजी एंड साइंस (BITS - Birla Institute of Technology and Science) स्थित है। पिलानी में बिरला हवेली एवं पंचवटी परिसर आदि प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल है। बिरला तकनीकी म्यूजियम, बिट्स पिलानी में 1954 में स्थापित किया गया था। 

✍ किरोड़ी, झुंझुनू ➡️
यहां पर उदयपुरवाटी के दानवीर शासक टोडरमल तथा वित्तमंत्री मुनशाह के प्रसिद्ध स्मारक स्थित है। यहां पर केवड़े के दुर्लभ वृक्ष भी पाए जाते हैं। 

✍ महनसार, झुंझुनू ➡️
यहां पर श्रीराम एवं श्री कृष्ण की लीलाओं का नयनप्रिय चित्रण किया हुआ है। तोलाराम मसखरा का महफिल खाना भी यहीं पर स्थित है। 

✍ झुंझुनू के अन्य दर्शनीय स्थल ➡️
मंडावा, डूंडलोद, चिड़ावा, मुकुंदगढ़ आदि प्रसिद्ध दर्शनीय स्थल है। 

झुंझुनू जिले के अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न/तथ्य | Jhunjhunu GK in Hindi

  • डूंडलोद - यहां पर राज्य का प्रथम एवं देश का पांचवा गर्दन अभयारण्य "द डंकी सैंचुअरी" के नाम से स्थापित किया गया है। 
  • कांतली नदी - इस नदी को मौसमी नदी भी कहा जाता है।  यह राजस्थान में पूर्ण बहाव की दृष्टि से आंतरिक प्रवाह की सबसे लम्बी नदी है। इसकी कुल लम्बाई 100 किलोमीटर है। इस नदी के किनारे गणेष्वर सभ्यता विकसित है। यह झुंझुनू को दो भागों में बांटती है। 
  • झुंझुनू में अन्य जलाशय - जर्मनी की सहायता से हनुमानगढ़, चूरू तथा झुंझुनू को  पेयजल सुविधा उपलब्ध कराने के लिए "आपणी परियोजना" चलाई जा रही है। 
  • 31 मई, 2007 को झुंझुनू शहर भारत का प्रथम धूम्रपान रहित शहर घोषित किया गया। 
  • सिंघानिया विश्वविद्यालय झुंझुनू में स्थापित किया गया है। 
  • राजस्थान का पहला निजी नर्सिंग कॉलेज पिलानी, झुंझुनू में स्थित है। 
  • बाबा रामेश्वर दास का मंदिर 'टीबा बसई' (झुंझुनू) में स्थित है। 
  • फौजियों वाली तहसील के उपनाम से प्रसिद्ध 'बुहाना', झुंझुनू में स्थित है।
  • राजस्थान की प्रथम हाईटेक पंचायत - बुडानिया (झुंझुनू) में है।  
  • शेखावटी उत्सव की शुरुआत नवलगढ़ से फरवरी 2010 में की गई। 
  • राजस्थान क्रीड़ा विश्वविद्यालय झुंझुनू में स्थित है। 
  • होहोबा फसल की सर्वाधिक खेती झुंझुनू में की जाती है। 
  • सुनारी सभ्यता - यहां से लोहे को गलाने की भट्टी एवं लोहे का प्याला प्राप्त हुआ है। 
  • रामकृष्ण मिशन का मठ -खेतड़ी (झुंझुनू) में है। 
  • राजस्थान का प्रथम मोर अभयारण्य झुंझुनू में प्रस्तावित है। 
  • विश्व का सबसे बड़ा सती माता का मंदिर - झुंझुनू में है। 
  • गोरीर में पहला 100 किलोवॉट क्षमता वाला सौर ऊर्जा संयंत्र झुंझुनू में स्थापित है। 
  • देश का प्रथम निर्मल ग्राम - 'बख्तावरपुरा' झुंझुनू में स्थित है। 
  • देश की प्रथम खनिज कोर लाइब्रेरी 'अकवाली गांव' में है। 
  • राजस्थान का सर्वाधिक पुरुष साक्षरता प्रतिशत वाला जिला - झुंझुनू जिला। 
  • राजस्थान का सर्वाधिक नगरपालिकाएं वाला जिला - झुंझुनू जिला है। 
  • राजस्थान का सर्वाधिक पुरुष/महिला साक्षरता प्रतिशत वाला जिला - झुंझुनू जिला है। 
  • राजस्थान का सबसे बड़ा वाटर हीटर - पिलानी के बिड़ला इंस्टिट्यूट में है। 
  • राजस्थान खेल विश्वविद्यालय 2012-13 में झुंझुनू में स्थापित है। 
  • झुंझुनू के खनिज : लोहा - डाबला (सिंघाना), नाई की ढाणी, सिओरी तथा काली पहाड़ी।  कैल्साइट - पापरना, माधोगढ़।  ताम्बा - खेतड़ी सिंघाना क्षेत्र बलवास, आकवाली, सतकूई, बाबाई आदि। 
  • हिंदुस्तान कॉपर लिमिटेड - इसकी स्थापना नवम्बर 1967 में सयुंक्त राज्य अमेरिका की 'वेस्टर्न नैप इंजीनियरिंग कम्पनी' की सहायता से खेतड़ी (झुंझुनू) में की गयी। 
  • चांदमारी ताम्र परियोजना - झुंझुनू में है। 
  • खेतड़ी कॉपर कॉम्प्लेक्स - खेतड़ी नगर (झुंझुनू ) में है। 
  • राजस्थान का दूसरा हवामहल - इसका निर्माण भूपाल सिंह ने करवाया था। 
  • राव शेखा की छतरी - यह परशुरामपुरा (झुंझुनू) में है। 
  • ज्योति ट्रिपल खाद का कारखाना - खेतड़ी (झुंझुनू) में है। 
  • चिड़ावा/शेखावटी ख्याल - इसके प्रवर्त्तक नानूराम चिड़ावा थे जबकि दुलिया राणा ने इसको प्रसिद्ध किया। यह राजस्थान की सबसे लोकप्रिय विधा है। 
  • नवाब रुहेलखां  का मकबरा झुंझुनू में स्थित है। 
  • झुंझुनू की प्रमुख हवेलियां - भागोरिया की हवेली, लालधर जी की हवेली (नवलगढ़ में), धरकाजी की हवेली (नवलगढ़ में ), रामदेव चौखानी की हवेली (मंडावा में), सागरमल लाडियां की हवेली (मंडावा), हीराराम बनारसी की हवेली (बिसाऊ में), सीताराम सिंगतिया की हवेली (बिसाऊ में), सेठ जयदयाल केडियां की हवेली (बिसाऊ में), खींचन की हवेली, टीबड़ वाले की हवेली (नवलगढ़ में), भक्तों की हवेली (नवलगढ़), बिड़ला हवेली (पिलानी में), केसरदेव की हवेली, सोने-चाँदी की हवेली (महनसर में) आदि। 
  • झुंझुनू की प्रमुख छतरियां - जोगीदास की छतरी (उदयपुरवाटी में), रावशेखा की छतरी (परशामपुरा गांव, नवलगढ़ तहसील में) | 
  • भोपालगढ़ का किला, नवलगढ़, मुकुंदगढ़ का किला, मदनसर का किला झुंझुनू में है। 
  • झुंझुनू से सम्बंधित महत्वपूर्ण व्यक्तित्व - घनश्याम बिड़ला, नरोत्तम लाल जोशी, नायक हरिसिंह, मेजर दयाचंद, श्रीमती सुमित्रा सिंह (राजस्थान की प्रथम महिला विधानसभा अध्यक्ष), श्योदान सिंह धाभाई, रामकुमार, सुरेश कुमार टेलर, श्रीमती कमला बेनीवाल, मेहंदी हसन, पंडित झाबरमल शर्मा। 
आज के इस पोस्ट में हमने "राजस्थान के जिला दर्शन" की श्रृंखला में "झुंझुनूं जिला दर्शन" को पूरी तरह से कवर करने की पूरी कोशिश की हैं। इसमें झुंझुनूं का सामान्य परिचय, झुंझुनूं के उपनाम, 2011 की जनगणना के अनुसार झुंझुनूं जिले की जनसँख्या / साक्षरता / घनत्व / लिंगानुपात, झुंझुनूं का क्षेत्रफल, झुंझुनूं की मानचित्र में स्थिति, झुंझुनूं में विधानसभा क्षेत्र, झुंझुनू के मेले, झुंझुनूं के प्रमुख मंदिर, झुंझुनूं के पर्यटन स्थल एवं इसके अलावा जितने भी अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न बन सकते थे, उन सभी को शामिल कर पेश किया गया है। मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी पाठकों को मेरी यह पोस्ट पसंद आयी होगी। आप सभी को यह पोस्ट कैसी लगी आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं।
Tags : Jhunjhunu District GK in Hindi, Jhunjhunu GK in Hindi, Jhunjhunu Jila Darshan, Jhunjhunu ke upnam, Rajasthan GK, Jhunjhunu, Jhunjhunu District, Jhunjhunu times, Jhunjhunu Update, Jhunjhunu Distic ka ithas, Important facts of jhunjhunu district, district wise gk, gk of jhunjhunu gk school, brahmin talents of jhunjhunu district will be honored, rajasthan state wise gk, Jhunjhunu News, Jhunjhunu Patrika, Rajasthan District, Jhunjhunu top news, Ras GK, Jhunjhunu jile ka ithas, Jhunjhunu ki history, jhunjhunu zila parishad, jhunjhunu wikipedia in hindi, rajasthan jhunjhunu jila, jhunjhunu shahar.


हमसे जुड़े

Educational Facebook Group

Join

PDF/Educational Telegram Group

Join

Educational Facebook Page

Join