राजस्थान जिला दर्शन : 'धौलपुर जिला दर्शन'

राजस्थान की दो जाट रियासतों में एक रियासत भरतपुर रियासत {भरतपुर जिला दर्शन यहां से पढ़ें} दूसरी जाट रियासत धौलपुर रियासत थी। सर्वप्रथम 1782 ईस्वी में जाट शासक कीरतसिंह ने धौलपुर पर अधिकार किया था। 15 अप्रैल 1982 को धौलपुर राजस्थान का 27 वां जिला बना। यह क्षेत्र स्थानीय भाषा में डांग कहलाता है। तोमर वंश के शासक धवलदेव ने 11वीं शताब्दी में धौलपुर शहर की स्थापना की थी। सामूगढ़ का युद्ध धौलपुर का प्रसिद्ध युद्ध माना जाता है, जो रा-का-चबूतरा स्थान पर लड़ा गया था। यह युद्ध दाराशिकोह तथा औरंगजेब के मध्य 1658 ईस्वी में उत्तराधिकार के लिए लड़ा गया था। जिसमें औरंगजेब की विजय हुई थी। धौलपुर प्रजामंडल का गठन 1936 ईस्वी में किया गया था। स्वतंत्रता के बाद राजस्थान के एकीकरण की प्रक्रिया में प्रथम चरण के अंतर्गत राजस्थान के पूर्वी 4 जिले अलवर {अलवर जिले की सम्पूर्ण जानकारी - अलवर जिला दर्शन यहां से पढ़ें} भरतपुर {भरतपुर जिले की सम्पूर्ण जानकारी - भरतपुर जिला दर्शन यहाँ से पढ़ें} धौलपुर तथा करौली को मिलाकर मत्स्य संघ का गठन किया गया तथा धौलपुर के महाराजा उदयभानुसिंह को इसका राज प्रमुख बनाया गया। धौलपुर राजस्थान का सबसे पूर्वी जिला है। 

Dholpur District GK in Hindi, Dholpur GK in Hindi, Dholpur District, Dholpur, District, Dholpur News, Rajasthan GK, Dholpur District Visit, Dholpur district
Dholpur GK : Dholpur Jila Darshan



    धौलपुर के उपनाम | धौलपुर के प्राचीन नाम

    • राजस्थान का पूर्वी प्रवेशद्वार 
    • रेड डायमंड 
    • राजस्थान में सर्वप्रथम सूर्योदय का शहर 
    • कोठी 
    • राजस्थान में सर्वप्रथम सूर्यास्त का शहर  
    • राजस्थान का सबसे पूर्वी जिला 
    • धवलपुरी/धौलागिरी {धौलपुर का प्राचीन नाम }

    धौलपुर का सामान्य परिचय


    • धौलपुर का क्षेत्रफल : 3034 वर्ग किलोमीटर। 
    • धौलपुर जिला क्षेत्रफल की दृष्टि से राजस्थान का सबसे छोटा जिला है। 
    • धौलपुर में तहसीलों की संख्या : 5 
    • धौलपुर में उप तहसीलों की संख्या : 3 
    • धौलपुर में उपखंडो की संख्या : 4 
    • धौलपुर में ग्राम पंचायतों की संख्या : 153
    • धौलपुर जिला भरतपुर संभाग के अंतर्गत आता है। 

    धौलपुर जिले की मानचित्र में स्थिति | स्थिति एवं विस्तार


    ✍अक्षांशीय स्थिति : 26 डिग्री 22 मिनट उत्तरी अक्षांश से 27 डिग्री 50 मिनट उत्तरी अक्षांश तक। 

    ✍देशांतरीय स्थिति : 76 डिग्री 53 मिनट पूर्वी देशांतर से 78 डिग्री 16 मिनट पूर्वी देशांतर तक। 


    धौलपुर जिले के विधानसभा क्षेत्र


    धौलपुर जिले में कुल 4 विधानसभा क्षेत्र है, जिनके नाम निम्नानुसार है:- 
    • धौलपुर
    • बाड़ी
    • राजाखेड़ा
    • बसेड़ी

    2011 की जनगणना के अनुसार धौलपुर जिले की जनसंख्या/घनत्व/लिंग अनुपात/साक्षरता के आंकड़े


    • धौलपुर की कुल जनसंख्या 12,06,519 
    • धौलपुर का लिंगानुपात : 846 
    • धौलपुर में जनसंख्या घनत्व : 398 
    • धौलपुर की साक्षरता दर : 69.1 प्रतिशत 
    • धौलपुर की महिला साक्षरता दर : 54.7% 
    • धौलपुर की पुरुष साक्षरता दर : 81.2%

    धौलपुर के प्रमुख मेले और त्यौहार


    • तीर्थराज का मेला - तीर्थराज का यह मेला मंचकुण्ड, धौलपुर में भादवा सुदी षष्ट्मी को भरता है। 
    • सैपऊ महादेव का मेला - सैपऊ महादेव का यह मेला सैपऊ (धौलपुर) स्थान पर फाल्गुन तथा श्रावण मास में चतुर्दशी को भरता है। 

    धौलपुर के प्रमुख मंदिर | धौलपुर के शीर्ष मंदिर


    ✍मचकुंड धौलपुर➡️

    'तीर्थों का भांजा' के उपनाम से प्रसिद्ध मंचकुंड हिंदुओं का एक प्रसिद्ध तीर्थ स्थल है। जिस प्रकार तीर्थराज पुष्कर { अजमेर - अजमेर जिले की सम्पूर्ण जानकारी यहां से देखें} को तीर्थ स्थलों का मामा का जाता है, उसी प्रकार धौलपुर जिले के मंचकुंड को तीर्थों का भांजा कहा जाता है। यह तीर्थ स्थल गंधमादन पर्वत पर स्थित है। ऐसा माना जाता है कि मंचकुंड में स्नान करने से चर्म रोग दूर हो जाते हैं। यहां पर प्रतिवर्ष भादव सुदी छठ को मेला भरता है। 


    ✍महाकालेश्वर मंदिर➡️
    यह मंदिर धौलपुर के सरमथुरा कस्बे में स्थित है। इस मंदिर में भाद्रपद शुक्ला सप्तमी से चतुर्दशी तक मेला भरता है। इस कस्बे की स्थापना 1327 ईस्वी में पालवंश के शासक अर्जुन देव ने की थी। 

    ✍राधा बिहारी मंदिर➡️
    धौलपुर पैलेस के पास स्थित इस मंदिर की बारीक नक्काशी धौलपुर के लाल पत्थर (धौलपुर स्टोन) से ताजमहल की तरह की गई है। यह मंदिर पर्यटन की दृष्टि से बहुत ही आकर्षक है। 

    ✍सैपऊ महादेव मंदिर, सैपऊ (धौलपुर)➡️
    सैपऊ कस्बे के निकट पार्वती नदी के किनारे स्थित इस मंदिर में चमत्कारी विशाल शिवलिंग स्थित है। 

    धौलपुर के दर्शनीय स्थल | धौलपुर के पर्यटन स्थल

    ✍निहाल टावर {धौलपुर}➡️
    धौलपुर शहर में स्थित 8 मंजिला घंटाघर जिसे निहाल टावर के नाम से जाना जाता है। इसका निर्माण 1880 ईस्वी में राजा निहालसिंह ने प्रारंभ करवाया था।  1910 ईस्वी में महाराजा रामसिंह ने इसे पूर्ण करवाया था। यह भारत का सबसे बड़ा घंटाघर है। इसकी आठवीं मंजिल पर मात्र छतरी है। इस घंटाघर की घड़ी का निर्माण इंग्लैंड की कंपनी मैसर्स जिलेट जॉनसन क्रॉपडॉन द्वारा किया गया। 

    ✍शेरगढ़ का किला➡️
    इस दुर्ग का निर्माण कुषाण वंश के शासक मालदेव ने 1540 ईसवी में करवाया था। पाल वंश के शासक धोरपाल अथवा देवीपाल ने 11वीं शताब्दी में इस दुर्ग का पुनर्निर्माण करवाया तथा बाद में शेरशाह सूरी ने इस दुर्ग को पुन: बनवाया था तथा इसका जीर्णोद्धार करवाया था। शेरशाह के नाम पर इस दुर्ग का नाम शेरगढ़ पड़ा। इसका एक अन्य उपनाम "दक्षिण/दक्खिन का द्वारगढ़ / धोलदेहरागढ़ / धौलपुर दुर्ग " भी है। शेरगढ़ का किला धौलपुर के प्रथम राजा कीरतसिंह की राजधानी था। शेरगढ़ दुर्ग सांप्रदायिक सद्भाव के लिए भी जाना जाता है। ध्यान रहे - शेरगढ़ दुर्ग/किला के नाम से एक अन्य किला बारां जिले {बारां जिले की संपूर्ण जानकारी यहां से पढ़ें} में भी स्थित हैं। 

    ✍तालाबशाही➡️
    धौलपुर की बाड़ी तहसील में स्थित झील जिसके किनारे जहांगीर के शहजादे खुर्रम के लिए उसके मनसबदार सालेखान द्वारा निर्मित खानपुर महल है। 

    धौलपुर के वन्य जीव अभ्यारण्य 


    • वन विहार वन्य जीव अभ्यारण्य - इस अभ्यारण्य की स्थापना 1965 में की गयी। यह अभ्यारण्य हिरण, रीछ, नीलगाय, जरख, भेड़िया और बारहसिंघा आदि वन्य जीवों के लिए प्रसिद्ध है। 
    • रामसागर वन्य जीव अभ्यारण्य - इस अभ्यारण्य की स्थापना 1955 में की गयी। यह अभ्यारण्य हिरण, रीछ, नीलगाय, जरख, भेड़िया और बारहसिंघा आदि वन्य जीवों के लिए प्रसिद्ध है।
    • केसरबाग वन्य जीव अभ्यारण्य - यह अभ्यारण्य  धौलपुर में स्थित है। 
    • चम्बल राष्ट्रीय घड़ियाल अभ्यारण्य - यह अभ्यारण्य राजस्थान, उत्तरप्रदेश तथा मध्यप्रदेश की सीमाओं में होने के कारण संयुक्त रूप से संचालित है। इसे घड़ियालों की प्रजाति को सरंक्षित करने के लिए 'घड़ियालों का संसार' के नाम से जाना जाता है। यह राज्य का एकमात्र जलीय अभ्यारण्य है, जो अंतर्राज्यीय अभ्यारण्य है। यहां शिशुमार (चपल गंगाई डॉल्फिन), गांगेय सूंप, ऊदबिलाव जैसे स्तनधारी जीव पाए जाते है। 
    • धौलपुर वन्य जीव अभ्यारण्य - धौलपुर में स्थित है। 

    धौलपुर के अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न/तथ्य | Dholpur GK in Hindi


    • भारत का सबसे बड़ा घंटाघर "निहाल टॉवर" धौलपुर में स्थित है। 
    • राज्यस्थान का क्षेत्रफल की दृष्टि से सबसे छोटा जिला धौलपुर है। 
    • राजस्थान का प्रथम मल्टी प्रोडेक्ट सेज धौलपुर में है। 
    • राजस्थान में न्यूनतम सड़कों वाला जिला धौलपुर है। 
    • राजस्थान में न्यूनतम पशु सम्पदा वाला जिला धौलपुर है। 
    • राजस्थान में न्यूनतम लिंगानुपात वाला जिला धौलपुर है। 
    • तालाब-ए-शाही झील : इस झील का निर्माण जहांगीर के मनसबदार सलेह खान ने करवाया था। 
    • लम्बी बावड़ी : इस सात मंजिला बावड़ी की बनावट एक समान है। 
    • धौलपुर का लाल पत्थर (धौलपुर स्टोन) - धौलपुर के लाल पत्थर से राष्ट्रपति भवन बना हुआ है। 
    • राजस्थान में नेप्था पर आधारित विधुत संयंत्र धौलपुर में स्थित है। जिसकी क्षमता 130 मेगावाट है। 
    • धौलपुर ग्लास वर्क्स - यह निजी क्षेत्र की धौलपुर में स्थापित कंपनी है।
    • दी हाई-टेक्निकल प्रिसिजन ग्लास वर्क्स - यह ''दी गंगानगर शुगर मिल्स लिमिटेड" की सहायक कम्पनी है।  जिसमें शराब की बोतलों का निर्माण किया जाता है।  यह सार्वजनिक क्षेत्र की मील है। 
    • दी राजस्थान एक्सप्लोसिव एंड केमिकल्स लिमिटेड - यह खाद का कारखाना है। 
    • बदावरी/भदावरी भैंस वंश - इसका मूल उत्पति स्थल उत्तर प्रदेश है। इस भैंस के दूध में सर्वाधिक वसा पाई जाती है। यह भैंस वंश राजस्थान में धौलपुर एवं भरतपुर जिलों {भरतपुर जिले की सम्पूर्ण सामान्य ज्ञान यहां से पढ़ें} में मुख्यत पायी जाती है।
    • बीबी जरीना का मकबरा धौलपुर जिले में स्थित है। 
    • बाबू महाराज का मेला धौलपुर में भरता है। 
    • तमंचाशाही सिक्के धौलपुर में चलाये गए। 
    • बाड़ी का युद्ध - यह युद्ध 1518-19 ईस्वी में राणा सांगा एवं इब्राहिम लोदी के मध्य हुआ जिसमें राणा सांगा को विजय प्राप्त हुई थी। 
    • धौलपुर में विद्रोह (27 अक्टूबर, 1857) - यहां की जनता ने देवा गुर्जर, रामचंद्र एवं हीरालाल राणा के नेतृत्व में विद्रोह कर धौलपुर पर अधिकार कर लिया। जिसे दो माह बाद पटियाला नरेश ने वहां के राजा भगवन्तसिंह को आजाद करवाया था। 
    • धौलपुर प्रजामण्डल - धौलपुर प्रजामण्डल की स्थापना 1936 ईस्वी में कृष्णदत्त पालीवाल एवं ज्वाला प्रसाद जिज्ञासु द्वारा की गयी। 
    • 4 जून, 2005 को भरतपुर संभाग बनाया गया तथा भरतपुर, धौलपुर, करोली तथा सवाईमधोपुर जिलों को भरतपुर संबहग में मिलाया गया। 
    • राजस्थान के सबसे पूर्व में धौलपुर जिले की राजाखेड़ा तहसील का सिलाना गांव है। 
    • राजस्थान का ऐसा जिला जिसकी सीमा उत्तरप्रदेश एवं मध्यप्रदेश दोनों राज्यों को स्पर्श करती है - धौलपुर जिला। 
    • धौलपुर की नदियां - चम्बल, पार्वती तथा गंभीरी नदी। 
    • शेर शिकार गुरुद्वारा, धौलपुर में स्थित है। 
    • सोने का गुर्जा, धौलपुर में स्थित है। 
    • कमल के फूल का बाग़ - यह बाग़ मंचकुण्ड तीर्थस्थल के पास धौलपुर में स्थित है। 
    • तहरीक-ए-मिल्ल्त : यह कोटा से प्रकाशित एक पत्रिका है। जो विवादास्पद होने के कारण धौलपुर जिला प्रशासन ने इस पर रोक लगा दी। 
    • भेंट ख्याल धौलपुर की प्रसिद्ध है। 
    यह भी पढ़ें :-

    आज के इस पोस्ट में हमने "राजस्थान के जिला दर्शन" की श्रृंखला में "धौलपुर जिला दर्शन" को पूरी तरह से कवर करने की पूरी कोशिश की हैं। इसमें धौलपुर का सामान्य परिचय, धौलपुर के उपनाम, 2011 की जनगणना के अनुसार धौलपुर जिले की जनसँख्या/साक्षरता/घनत्व/लिंगानुपात, धौलपुर का क्षेत्रफल, धौलपुर की मानचित्र में स्थिति, धौलपुर में विधानसभा क्षेत्र, धौलपुर के मेले,धौलपुर के प्रमुख मंदिर, धौलपुर के पर्यटन स्थल एवं इसके अलावा जितने भी अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न बन सकते थे, उन सभी को शामिल कर पेश किया गया है। मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी पाठकों को मेरी यह पोस्ट पसंद आयी होगी। आप सभी को यह पोस्ट कैसी लगी आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं।

    Tags: Dholpur District GK in Hindi, Dholpur GK in Hindi, Dholpur District, Dholpur, District, Dholpur News, Rajasthan GK, Dholpur District Visit, Dholpur district anm counselling, dholpur jila darsan/darshan, important facts of dholpur district, gk star dholpur, rajasthan state wise gk, district rajasthan gk, dholpur fort, dholpur tour, rajasthan gk study distirict wise, #dholpur history, dholpur highway, dholpur lift irrigation project, dholpur district kab bana, dholpur history in hindi, dholpur city photos, fast track dholpur, dholpur news, dholpur district tehsil list, dholpur map, dholpur district map.


    हमसे जुड़े

    Educational Facebook Group

    Join

    PDF/Educational Telegram Group

    Join

    Educational Facebook Page

    Join