राजस्थान जिला दर्शन : 'नागौर जिला दर्शन'

नागौर जिला राजस्थान के अजमेर संभाग के अंतर्गत आता है। इसे प्राचीनकाल से अहिच्छत्रपुर के नाम से जाना जाता रहा है और यह जंगल प्रदेश की राजधानी भी रहा था। अकबर ने अजमेर जियारत कर सीधे नागौर पहुंचकर 1570 ईस्वी में आमेर के शासक भारमल की सहायता से अपना दरबार लगाया था, जिसे नागौर दरबार की संज्ञा दी थी। जहां पर मारवाड़ के अधिकांश शासकों ने अपने अधीनता स्वीकार की थी। 

Nagour district gk in hindi, Nagaur District GK in Hindi, Nagaur zila darshan
Nagour GK : Nagour Jila Darshan


    नागौर जिले के उपनाम/प्राचीन नाम


    • राजस्थान का धातु नगर 
    • औजारों की नगरी 
    • जांगल प्रदेश की राजधानी 
    • अहिच्छत्रपुर


    नागौर जिले का अक्षांशीय/देशांतरीय विस्तार


    • नागौर जिले की अक्षांशीय स्थिति : 26 डिग्री 25 मिनट उत्तरी अक्षांश से 27 डिग्री 40 मिनट उत्तरी अक्षांश तक। 
    • नागौर जिले की देशांतरीय स्थिति : 73 डिग्री 18 मिनट पूर्वी देशांतर से 75 डिग्री 15 मिनट पूर्वी देशांतर तक। 


    नागौर जिले के प्रमुख मेले और त्यौहार


    • लक्ष्मीनारायण झूला का मेला - यह मेला मौलासर (नागौर) में श्रावण मास में भरता है। 
    • हरिराम जी का मेला - यह मेला झोरड़ा स्थान पर नागौर में भाद्रपद शुक्ला पंचम को भरता है। 
    • चारभुजा नाथ (मीराबाई) का मेला - यह मेला नागौर के मेड़ता सिटी में श्रावण शुक्ल एकादशी से 7 दिन तक भरता है। 
    • तारकीन का उर्स - यह नागौर जिले में संत काजी हमीदुद्दीन नागोरी की दरगाह में लगता है। 
    • दधिमती माता का मेला - यह मेला गोठ मांगलोद नागौर में आश्विन शुक्ला 8 व चैत्र शुक्ला 8 को लगता है। 
    • भांवल माता का मेला - यह मेला नागौर की मेड़ता तहसील के भांवल गांव  में नवरात्र की अष्टमी को लगता है। 


    नागौर जिले के प्रमुख मंदिर/शीर्ष मंदिर


    • कैवाय माता का मंदिर - नागौर जिले में परबतसर के पास में किणसरिया गांव में एक पर्वत चोटी पर कैवाय माता का अति प्राचीन मंदिर स्थित है। 
    • बंशीवाले का मंदिर - इसे मुरलीधर का मंदिर भी कहा जाता है। यह मंदिर नागौर जिले में स्थित है। 
    • दधिमती माता का मंदिर - दधिमती माता जिन्हें दाहिमा/दाधीच ब्राह्मणों की आराध्य देवी कहा जाता है। इनका यह मंदिर प्रतिहारकालीन महामारी हिंदू मंदिर शैली का बना है। यह मंदिर नागौर जिले के जायल तहसील में गोठ और मांगलोद नामक गांव की सीमा पर स्थित है। 
    • चारभुजानाथ मंदिर, मेड़ता (नागौर) - इस मंदिर की स्थापना राव दूदा ने की थी। यहां इस मंदिर में संत तुलसीदास जी, मीराबाई, संत रैदास आदि की आदमकद प्रतिमा विराजमान है। 
    • भांवल माता का मंदिर - यह मंदिर नागौर जिले की मेड़ता तहसील से 20 किलोमीटर दूर स्थित भांवल गांव में स्थित है। यहां पर नवरात्र की अष्टमी को मेला लगता है। इस मंदिर में चामुंडा और महिषमरदिनी के स्वरूपों की पूजा की जाती है। 

    नागौर जिले के दर्शनीय स्थल/पर्यटन स्थल


    • बुलंद दरवाजा - यह बुलंद दरवाजा नागौर जिले की पवित्र दरगाह का है। यह अपने स्थापत्य कला एवं विराट स्वरूप के कारण पर्यटकों के लिए आकर्षण का केंद्र रहता है। 
    • खींवसर किला - इस किले में मुगल सम्राट औरंगजेब रुके थे। यह किला अब एक हेरीटेज होटल के रूप है। इसे जागीरदारों के किलों का सिरमौर भी कहा जाता है। इसका निर्माण मेड़तिया शासक जालिम सिंह ने करवाया था। 
    • सुल्तनतारकिन की दरगाह - इस दरगाह में अजमेर जिले के बाद सबसे बड़ा उर्स भरता है। यह नागौर नगर में संत काजी हमीदुद्दीन नागौरी सुल्तनतारकिन की दरगाह है। 
    • मेड़ता - मेड़ता में राव मालदेव द्वारा निर्मित मालकोट का किला (मेड़तकपुर दुर्ग) स्थित है। जहां पर मीराबाई ने अपना जीवन व्यतीत किया था। यहां पर मीराबाई का महल एवं मीराबाई का मंदिर भी स्थित है। मेड़ता का प्राचीन नाम - मेदिनीपुर था। मेड़ता में डागोलाई तालाब पर कप्तान डी. बौरबोन की कब्र भी स्थित है। 
    • जैन विश्वभारती, लाडनूं (नागौर) - यह लाडनूं (नागौर) में 1971 में स्थापित एक अध्यात्म तीर्थ स्थल है। 
    • बड़े पीर की दरगाह - नागौर सूफियों की कादरिया शाखा के जन्मदाता सैयद सैफुद्दीन अब्दुल वहाब की दरगाह है। 
    • नागौर का किला - इसे नागाणा दुर्ग/अहिछत्रपुर दुर्ग/नाग दुर्ग आदि नामों से जाना जाता है। इसका निर्माण सोमेश्वर के समंद केमास ने विक्रम संवत 1211 में करवाया था। यह ऐसा दुर्ग है, जिस पर दागे गए तोप के गोले महलों को क्षति पहुंचाए बिना ऊपर से निकल जाते है। 


     नागौर जिले के प्रमुख पशु मेले

    • श्री तेजाजी पशु मेला - आय की दृष्टि से यह पशु मेला सबसे बड़ा पशु मेला है .यह मेला श्रावण मास की पूर्णिमा से भाद्रपद अमावस्या तक परबतसर गांव नागौर में लोक देवता तेजाजी की याद में भरता है। 
    • श्री बलदेव पशु मेला - यह मेला क्षेत्र शुक्ला एकम से पूर्णिमा तक मेड़ता सिटी में किसान नेता एवं स्वतंत्रता सेनानी बलदेव राम मिर्धा की स्मृति में भरता है। 
    • रामदेवजी पशु मेला - यह मेला लोक देवता रामदेव जी की याद में माघ शुक्ल एकम से पूर्णिमा तक नागौर के मालासर गांव में भरता है। 


    नागौर जिले के अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न/तथ्य


    • जोजड़ी नदी - जोजड़ी नदी का उद्गम नागौर के पाड़लू गांव से होता है। यह नदी लूनी नदी की एकमात्र सहायक नदी है, जो दाएं किनारे से मिलती है व इसका उद्गम अरावली की पहाड़ियों से नहीं होता है। 
    • नागौर जिले के प्रमुख बांध एवं बावड़ियां - प्रताप सागर, हरसोर बांध, पीरजी का नाका, भाकरी आदि। 
    • नागौर जिले की प्रमुख मंडियां - खुशबू वाली मेथी की मंडी (ताऊसर, नागौर में), जीरा मंडी (मेड़ता सिटी, नागौर में) | 
    • नागौर जिले में खनिज संपदा - नागौर जिले के डेगाना से टंगस्टन का उत्पादन होता है। यह देश की एकमात्र सबसे बड़ी टंगस्टन की खान है। (टंगस्टन एक उच्च गलनांक वाली धातु है जो सामरिक कार्यों में व विद्युत सामान बनाने में उपयोगी होती है) |  मेड़ता रोड, सोनारी  तथा मातासुख कसनाऊ  (नागौर) से कोयला उत्पादित होता है। जिप्सम/सेलखड़ी/हरसौट का उत्पादन नागौर जिले के गोठ मांगलोद, भदवासी से होता है। 
    • मतीरे री राड़ युद्ध - 1644 ईस्वी में नागौर के अमरसिंह राठौड़ तथा बीकानेर के करणसिंह के मध्य हुआ जिसमें अमरसिंह विजय हुआ था।
    • गिंगोली का युद्ध - यह 1807 ईस्वी में परबतसर गांव में जयपुर के जगतसिंह द्वितीय एवं जोधपुर के मानसिंह राठोड के मध्य हुआ जिसमें जगतसिंह विजय हुआ था। 
    • देश व राजस्थान में लिग्नाइट पर आधारित प्रथम भूमिगत विद्युत संयंत्र मेड़ता सिटी (नागौर) में है। 
    • राजस्थान का प्रथम सौर बिजली घर खींवसर (नागौर) में है। 
    • जेके व्हाइट सीमेंट का कारखाना - इसकी स्थापना 1984 ईस्वी में नागौर के गोटन में की गई थी। यह राजस्थान का प्रथम सफेद सीमेंट का कारखाना है। 
    • राजस्थान राज्य का मध्य का जिला नागौर जिला है। 
    • लोहारपुरा (नागौर) में लोहे के हस्त औजार बनते हैं। 
    • अकबर के नवरत्न कहे जाने वाली दरबारियों में से बीरबल, अबुल फजल तथा फैजी नागौर जिले से संबंधित थे। 
    • कुचामन (नागौर) में मारवाड़ राज्य की टकसाल थी, जिसमें ढले हुए सिक्के कुचामनी सिक्के कहलाते थे। 
    • नागौर जिले के गांव टांकला की दरिया एवं बडू की जूतियां प्रसिद्ध है। 
    • राजस्थान का पहला आदर्श लवण पार्क नावा (नागौर) में स्थित है। 
    • देश की पहली रेल बस सेवा 12 अक्टूबर, 1994 ईस्वी को मेड़ता रोड से मेड़ता सिटी के मध्य नागौर जिले में शुरू हुई थी। 
    • राजस्थान का पहला सफेद सीमेंट का कारखाना गोटन (नागौर) में स्थित है। 
    • देशभर में राजस्थान में सर्वप्रथम 2 अक्टूबर 1959 ईस्वी में पंचायती राज व्यवस्था का नागौर के बगदरी गांव से पंडित जवाहरलाल नेहरू ने उद्घाटन किया था। 
    • राजस्थान में सर्वाधिक पशु  मेलों का आयोजन नागौर जिले में होता है।
    • राजस्थान में सर्वाधिक खारे पानी की झीले नागौर जिले में स्थित है। 
    • राजस्थान में न्यूनतम अनुसूचित जनजाति जनसंख्या का अनुपात नागौर जिले में है। 
    • कुचामनी ख्याल - इसके प्रवर्तक लच्छीराम थे। इस ख्याल का स्वरूप ओपेरा जैसा है तथा इसमें लोकगीतों की प्रधानता है। 
    • लोकदेवता हड़बूजी का जन्म नागौर जिले के भूण्डले में मेहाजी सांखला के घर हुआ था। 
    • लोक देवता तेजाजी का जन्म खरनाल गांव नागौर में हुआ था। 
    • हरिराम बाबा का जन्म झोरडा गांव नागौर में हुआ था। उनके पिता जी का नाम रामनारायण था। 
    • नागौर जिले के प्रमुख संप्रदाय - नवल संप्रदाय, निरंजनी संप्रदाय, दासी संप्रदाय, रामस्नेही संप्रदाय की रैण शाखा आदि। 
    • शाह जामा मस्जिद नागौर जिले में है। 
    • लाछा गुर्जरी की छतरी नागौर जिले में हैं। 
    • अमरसिंह राठौड की छतरी नागौर जिले में है। 
    यह भी पढ़ें :-

    आज के इस पोस्ट में हमने "राजस्थान के जिला दर्शन" की श्रृंखला में "नागौर जिला दर्शन" को पूरी तरह से कवर करने की पूरी कोशिश की हैं। इसमें नागौर का सामान्य परिचय, नागौर के उपनाम, 2011 की जनगणना के अनुसार नागौर जिले की जनसँख्या / साक्षरता / घनत्व / लिंगानुपात, नागौर का क्षेत्रफल, नागौर की मानचित्र में स्थिति, नागौर में विधानसभा क्षेत्र, नागौर के मेले, नागौर के प्रमुख मंदिर, नागौर के पर्यटन स्थल एवं इसके अलावा जितने भी अन्य महत्वपूर्ण प्रश्न बन सकते थे, उन सभी को शामिल कर पेश किया गया है। मैं उम्मीद करती हूँ कि आप सभी पाठकों को मेरी यह पोस्ट पसंद आयी होगी। आप सभी को यह पोस्ट कैसी लगी आप मुझे कमेंट करके जरूर बताएं।

    Tags : Nagour district gk in hindi, Nagaur District GK in Hindi, Nagaur zila darshan, nagaur district news, nagaur ke upnam, nagour ke prachin naam, rajasthan gk, rajasthan gk in hindi, nagaur, gk trick in hindi, rpsc gk in hindi, rajasthan gk video, nagor district, rajasthan gk question with answers in hindi, district gk, nagaur fort, india gk, news in hindi, import facts of naguar district, rajasthan district gk, rajasthan history in hindi, rajasthan, gk, mp news in hindi, rajasthan police nagaur district, nagour bhaskar, nagour news live, nagour news live, nagaur bhaskar epaper today, dainik bhaskar nagaur epaper today, etc nagaur live, nagaur district mla list 2019, nagour dak e patrika, nagaur dj, nagaur dm, nagaur district area/weather, court, nagaur district map, river, fair etc.  


    हमसे जुड़े

    Educational Facebook Group

    Join

    PDF/Educational Telegram Group

    Join

    Educational Facebook Page

    Join